अलीगढ़:महज 10000 रू के लिए लिया ढाई साल की बच्ची की जान,पांच पुलिसकर्मी भी निलंबित

मिल्लत टाइम्स,अलीगढ़: उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में टप्पल इलाके में ढाई साल की बच्ची ‘बेबे’ की हत्या कर दी गई। इस मामले में बच्ची के पिता ने गुनहगार को फांसी की सजा की मांग की है। बच्ची के पिता ने कहा कि मेरी बेटी को इंसाफ मिले, गुनहगार को ऐसी सजा मिले की वो सौ बार सोचे। उन्होनें कहा कि फांसी की सजा के बाद भी मेरा दर्द कम नही होगा। इस झकझोर देने वाली वारदात में लापरवाही बरतने के आरोप में सम्बन्धित थाना प्रभारी समेत पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरि ने बताया कि पुलिस क्षेत्राधिकारी पंकज श्रीवास्तव द्वारा की गयी जांच के आधार पर गुरूवार को थाना प्रभारी समेत पांच पुलिसकर्मियों के निलंबन की कार्रवाई की गयी है। उन्होंने बताया कि मामले की आगे जांच के लिए पुलिस अधीक्षक ग्रामीण एवं एक महिला इंस्पेक्टर सहित छह सदस्यीय विशेष जांच टीम (एसआईटी) बनायी गयी है। इस बीच, लखनऊ में अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) आनंद कुमार ने बताया कि बच्ची का शव उसकी मौत के 72 घंटे बाद पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया।

उन्होंने कहा ”हम पूरी संवेदनशीलता से काम कर रहे हैं। फिलहाल जांच हमारी प्राथमिकता में है। साथ ही इसमें पॉक्सो अधिनियम का प्रयोग किया जाएगा। मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में भी भेजा जाएगा। ऐसे अपराधियों को सजा दिलाना हमारी प्राथमिकता है। अलीगढ़ एसएसपी ने बच्ची के पिता से मुलाकात कर उन्हें समझाया बुझाया कि वह आमरण अनशन ना करें क्योंकि पिता ने आमरण अनशन की चेतावनी दी थी। उनकी मांग है कि कथित हत्यारों के परिवार वालों को भी गिरफ्तार किया जाना चाहिए। एसएसपी ने बताया कि उन्होंने पिता को आश्वासन दिया है कि फास्ट ट्रैक कोर्ट के जरिए तेजी से न्याय सुनिश्चित किया जाएगा।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक दो गिरफ्तार आरोपियों जाहिद एवं असलम ने जुर्म कबूला है और महज 10 हजार रूपये के लिए इस अपराध को अंजाम दिया गया है। यह रकम बच्ची के पिता ने उधार ली थी और वह उसे वापस नहीं कर पा रहे थे। उल्लेखनीय है कि बच्ची टप्पल कस्बे से 30 मई को गायब हो गयी थी। पुलिस को उसका क्षत विक्षत शव दो जून को उसके घर के निकट ही कूड़े के पास मिला है। पुलिस ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बलात्कार की बात नहीं है क्योंकि रिपोर्ट में बताया गया है कि गला घोंटने के कारण मौत हुई है। कुलहरि ने कहा कि अपराध की गंभीरता को देखते हुए आरोपियों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई की प्रक्रिया चल रही है। टप्पल जिला मुख्यालय से 50 किलोमीटर दूर है और कस्बे में एहतियातन सुरक्षा कड़ी कर दी गयी है। बुधवार को यहां तनाव व्याप्त हो गया था।

उधर, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘अलीगढ़ में बच्ची की भयावह हत्या से वह सदमे में हैं। कोई भी मनुष्य एक बच्चे से ऐसी बर्बरता कैसे कर सकता है… उत्तर प्रदेश पुलिस को हत्यारों को दंडित करने के लिए तेजी से कार्रवाई करनी चाहिए।’’ राहुल की बहन एवं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बर्बर हत्या को अमानवीय बताया। उन्होंने कहा कि एक निर्दोष बच्ची के खिलाफ ऐसा अपराध हुआ है जो अकथनीय है। बसपा सुप्रीमो मायावती ने लखनऊ में एक बयान में कहा कि राज्य में कानून का राज स्थापित करने के लिए प्रदेश सरकार को तत्काल कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए और दोषियों को सलाखों के पीछे पहुंचाना चाहिए। फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार ने कहा कि ऐसे जघन्य अपराध के लिए तत्काल और कड़े से कड़ा दंड देने की आवश्यकता है। एक अन्य सिने अभिनेता अभिषेक बच्चन ने ट्वीट किया कि कोई इस तरह का अपराध करने की कैसे सोच भी सकता है।