चुनाव आयोग ने लॉन्च किया वोटर voter turnout ऐप;रियल टाइम में पता लगेगा,कहां-कितनी वोटिंग हुई

मिल्लत टाइम्स,नई दिल्ली:चुनाव आयोग ने गुरुवार को एंड्राइड यूजर्स के लिए वोटर टर्नआउट ऐपलॉन्च किया। ऐप की मदद से मतदान के दौरानरियल टाइम में यह जाना जा सकता है कि वोटरों की संख्या कितनी है और कहां-कितने प्रतिशत मतदान हुआ। आयोग ने बताया कि आने वाले दिनों में ऐप को अपडेट किया जाएगा, जिसके बाद यूजर्समतदाता उपस्थिति को चुनाव के चरण, लिंग और क्षेत्र के हिसाब से फिल्टर करके भी देखसकेंगे। ऐप का बीटा वर्जन गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है।

चुनाव उपायुक्त संदीप सक्सेना ने कहा- यह ऐप जनता में मतदाता की उपस्थिति को लेकर पारदर्शिता बढ़ाएगा। उन्होंने कहा कि संसदीय क्षेत्र स्तर पर डेटा को एक अन्य ऐप के जरिए लगातार अपडेट किया जाएगा ताकि ऐप रियलटाइम में जानकारी दे सके। मतदान खत्म होने और पोलिंग पार्टी केवापस लौटने के बाद डेटा को वेरिफाईकिया जाएगा। इसके बाद अंतिम आंकड़ों को ऐप पर अपलोड कर दिया जाएगा।ऐपपर पुरुष और महिला मतदाताओं की संख्या भी अलग-अलग दिखाई जाएगी।

आसानी से होता हैवोटर टर्नआउट ऐप का इस्तेमाल

ऐप खोलते ही होम पेज पर सभी राज्यों में संभावित मतदाता की उपस्थिति दिखाई देती है। सबसे ऊपर चुनावी चरण में पूरे देश में मतदान प्रतिशत दिखाई देता है। ऐप में नीचे की तरफ दाईं और बाईं ओर दो बटन हैं। बाईं तरफ केबटन से यूजर मतदाताओं की उपस्थिति को राज्य के अनुसार या संसदीय क्षेत्र के अनुसार देख सकते हैं। दाईं ओर के बटन से यूजर किसी भी विधानसभा क्षेत्र में मतदाता की उपस्थिति की जानकारी राज्य,संसदीय क्षेत्र औरविधानसभा क्षेत्र के हिसाब से फिल्टर करकेदेख सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले यूजर को राज्य चुनना होगा, इसके बाद उस राज्य में संसदीय क्षेत्र चुनना होगा। इसके बाद उस संसदीय क्षेत्र में जिस भी विधानसभा क्षेत्र की जानकारी देखना चाहते हैं उसे चुनना होगा। किसी भी राज्य या संसदीय क्षेत्र को चुनने पर ऐप उस क्षेत्र में मतदाताओं की संभावित उपस्थिति दिखाता है। वर्तमान में ऐप सिर्फ दूसरे चरण में हुए चुनाव की जानकारी दे रहा है।चुनाव आयोग के अनुसार ऐप को कुछ दिनों में अपडेट किया जाएगा, जिसके बाद चुनाव के चरण के हिसाब सेमहिला और पुरुष मतदाताओं का उपस्थिति प्रतिशत भी अलग-अलग दिखाई देगा।

शिकायत के लिए है cVIGILऐप

चुनाव आयोग ने पिछले महीने cVIGIL ऐप भी लॉन्च किया था।इस ऐप के जरिए वोटर्स आचार संहिता के उल्लंघन होने पर इस उसकी जानकारी फोटो व वीडियो के मध्यम से चुनाव अधिकारियों को भेज सकते हैं। ऐप के बारे में कहा गया था कि शिकायत सही पाई जाने पर 100 मिनट के अंदर इसका समाधान कियाजाएगा।

SHARE
is a young journalist & editor at Millat Times''Journalism is a mission & passion.Amazed to see how Journalism can empower,change & serve humanity