घरों मे जल जमाव के कारण विधालय मे लिया शरण

घरों मे जल जमाव के कारण विधालय मे लिया शरण 29 जून से परिवार मवेशी संग विधालय में लिया शरण अबतक किसी ने नही ली सुध

मेराज़ आलम ब्यूरो रिपोर्ट

सीतामढ़ी सोनबरसा- पिछले दिनों हुई लगातार बारिश से प्रखंड के मधेसरा गांव के वार्ड 8 में जल जमाव हो गया था। लगभग 25 घरों मे पानी का जमाव इतना हो गया कि इन्हें मध्य विधालय, मधेसरा में शरण लेना पड़ा। 25 परिवार अपने बच्चों एवं मवेशी के साथ 29 जून से शरण लिये हैं। मध्य विधालय पूरी तरह कैंप में तब्दील है। मवेशी भैंस,गाय एवं बकरा बकरी बरामदा पर बांध पानी से बचा रहे हैं। कमरे मे अपने साथ लाये सामान और किसी तरह बच्चों के साथ समय गुजारने की मजबूरी है,क्योंकि इन लोगों से फिलहाल इनका आशियाना छीन चुका है। इन परिवारों को उस दिन का इंतजार है कि घर से पानी का निकासी हो जाय और वह अपने घर जा सके। शरणार्थी गिरिजा देवी,नथुनी नदाफ,सोलाजीम नदाफ, मंजूर नदाफ, लक्ष्मी महतो, श्रीपति देवी समेत अन्य ने कहा कि हमलोगों के साथ खाने की समस्या भी है।

बच्चें को समय पर खाना नही खिला पा रहे है। मवेशी को खिलाने की समस्या भी उत्पन्न है। इन परिवारों ने कहा कि हम लोगों को कोई देखने वाला नहीं। अंचलाधिकारी, मुखिया एवं सरपंच 30जून को मिट्टी कटवाने के बाद इधर रूख नही किया और नही कोई सुध बुध ली गई और नही किसी प्रकार की राहत दी गई है। मौके पर पहुंचे सामाजिक कार्यकर्त्ता मो कमर अख्तर ने एसडीओ सीतामढ़ी सदर से मोबाइल पर बात कर शरण लिए परिवार की समस्या से अवगत कराया, एसडीओ सदर ने कहा कि मैं अंचलाधिकारी से कहता हूं। अंचलाधिकारी अशोक कुमार ने कहा कि वर्षा के पानी से बेघर हुए लोगों को कोई राहत देने का प्रावधान नही है। गौरतलब है कि 29 जून को घरों में पानी प्रवेश कर जाने से घर से निकल परिवार एवं मवेशी के साथ विधालय में शरण लेना पडा था। सामाजिक कार्यकर्त्ता मो कमर अख्तर ने कहा कि इन परिवारों खाने की समस्या है। स्थायी तौर पर पानी निकासी का समाधान किया जाना चाहिए ताकि वह अपने घरों को लौट सकें। वहीं वार्ड 9 के वार्ड सदस्य मनोज सिंह एवं पूर्व वार्ड सदस्य सम्भू साह ने प्रशासन से इन परिवारों को राहत सामग्री देने की मांग की है। पीड़ित परिवार 29 जून को अंचलाधिकारी सोनबरसा एवं सरपंच से मिल समस्या से अवगत कराया एवं इसके हल की गुहार लगाई थी। अंचलाधिकारी अशोक कुमार ने हल्का कर्मचारी को जांच का निर्देश दिया। रिपोर्ट के बाद आगे की कारवाई की बात कही। 30 जून को पीड़ित परिवार पदाधिकारी एवं जनप्रतिनिधि से मिल समस्या की निदान की बात कही। अवलोकन करने पर पता चला कि कुछ दिन पूर्व मिटृीकरण करवाया गया था। पानी का निकासी नही होने के कारण जल जमाव है। अंचलाधिकारी पुलिस बल के साथ मधेसरा पहुंचे मुखिया, सरपंच के मौजूदगी में पानी निकासी के लिए लगभग 20 फीट में नाली बना पानी निकासी का प्रयास किया गया था। राम ईश्वर महतो,सीता महतो, महेन्द्र महतो,खेहरू बैठा, गफार नदाफ, हबीब नदाफ, असलम नदाफ, लाल मोहम्मद, साह मोहम्मद, वैधनाथ महतो,विनोद महतो, राकेश महतो, ईशा नदाफ ,शाहीद नदाफ,तारा महतो समेत 25 परिवार विधालय मे शरण लिये हैं।