अमेरिकी सैनिकों ने रातों-रात बिना बताये बगराम एयरबेस खाली किया

नई दिल्ली (मिल्लत टाइम्स ) बगराम एयर बेस के नए अफगान कमांडर ने शिकायत की है कि अमेरिकी सैनिकों ने उन्हें बिना बताए दोपहर 3 बजे एयरबेस खाली कर दिया, जबकि हजारों तालिबान कैदी भी मौजूद थे।
ब्रिटिश ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन के अनुसार, अफगानिस्तान में सबसे बड़े अमेरिकी हवाई अड्डे बगराम एयर बेस के नए अफगान कमांडर जनरल असदुल्ला कोहिस्तानी ने पत्रकारों से अमेरिकी हवाई अड्डे को खाली करने के बाद की स्थिति बात की।
जनरल असदुल्लाह कोहिस्तानी ने अमेरिकी सेना द्वारा बगराम एयर बेस को अचानक खाली कराने के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में कहा कि उन्होंने दशकों तक अमेरिकी सैनिकों के साथ काम किया लेकिन अमेरिकी सेना ने एयरबेस को खाली करने से पहले हमें विश्वास में नहीं लिया।

अफगान कमांडर ने कहा कि बगराम एयर बेस में एक जेल भी है जहां 5,000 से अधिक तालिबान को क़ैद किया गया है । हम जानते हैं कि तालिबान अब शहरों की तरफ आगे बढ़ रहे हैं और आशंका है कि बगराम एयर बेस पर भी हमला हो सकता है।
अफगानिस्तान से अमेरिकी और विदेशी सैनिकों की वापसी 11 सितंबर तक पूरी हो जाएगी, जिसके तहत शुक्रवार को अमेरिका ने बगराम एयर बेस को खाली कर दिया । यह अफगानिस्तान में सबसे बड़ा अमेरिकी हवाई अड्डा था, जिसे 1950 में संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा बनाया गया था ।
अमेरिका द्वारा बनाया गया बगराम एयर बेस पर 1979 में रूस का कब्जा था और बाद में रूसी समर्थित काबुल सरकार ने इसे अपने कब्जे में ले लिया। हालांकि, यह 1990 में मुजाहिदीन सरकार के हाथों में आ गया और बाद में तालिबान द्वारा कब्जा कर लिया गया था लेकिन 2001 में अमेरिकी सैनिकों ने वापस ले लिया था ।