आतंकवाद के आरोप में गिरफ्तार अबू बकर के भाई उमर ने पुलिस के आरोपों को किया खारिज 

नई दिल्ली :  (रुखसार अहमद) दिल्ली पुलिस ने 14 सितंबर को आतंकी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में 6 लोगों को गिरफ्तार किया है । इस मामले में अबू बकर के छोटे भाई उमर से मिल्लत टाइम्स ने बातचीत की है। अबू बकर वह है जिनपर पुलिस ने आतंकी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप लगया है। लेकिन उनके भाई ने पुलिस के सभी आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि उनके भाई पर जो भी आरोप लगाए जा रहे हैं सब बेबुनयादी हैं. उमर ने बताया की जब उनके भाई 6 साल के थे और वह 4 साल के थे तभी दोनों अपनी पढ़ाई करने सऊदी अरब चले गए थे। उम्र ने मिल्लत टाइम्स से बात करते हुए बताया कि दोनों ने अपनी पढ़ाई सऊदी के सरकारी स्कूल में की थी और 2013 में वह भारत वापिस आ गए। इसके बाद दोनों भाइयों ने सहारनपुर जिले के देवबन्द में तालीम लेना शुरू किया। अबू बकर ने आलिम की तालीम हासिल की। जबकि मोहम्मद उमर ने मुफ्ती व आलिम दोनों कि तालीम हासिल की। उमर कहते है कि हम दोनों भाईयों के सरकारी स्कूल के सर्टिफिकेट भी मौजूद है। उमर ने कहा अगर इस मामले में जिस किसी को भी जानकारी चाहिए तो वह हमसे आकर ले सकता है। मिल्लत टाइम्स से उमर ने कहा की हम दोनों भाईयों ने साथ पढ़ाई की और मेरे भाई कभी किसी गलत गतिविधि में नहीं रहे। पुलिस ने उनपर जो भी इलज़ाम लगाए है वह बेबुनयाद है। उमर का कहना की पुलिस अपनी जांच जल्दी पूरी करे और उनके भाई को बरी कर दे। मिल्लत टाइम्स से उमर ने कहा की शाम 4.30 बजे एटीएस की टीम उन्हें सोनारी चौराहे पर स्थित उनके घर से पूछताछ के लिए कैसरगंज थाने लाई थी। पूछताछ करने के बाद उमर को छोड़ दिया गया था। जब वह घर आए तब उन्हें न्यूज चैनल के माध्यम से पता चला की उनके भाई अबू बकर को आतंकी गतिविधियों के आरोप में दिल्ली में गिरफ्तार कर लिया गया है। इस खबर के बाद उमर और उनके परिवार वाले हैरत में पड़ गए थे। अबू बकर के भाई ने बताया की उनके भाई एक हफ्ते से दिल्ली में स्थित निजामुद्दीन की जमात में गए थे। बता दें दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने आंतकी के आरोप में 6 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने दो पर पाकिस्तान से ट्रेनिंग लेने का आरोप लगया है।