म्यांमार में सैन्य तख्तापलट के प्रमुख ने देश में आपातकाल की स्थिति बढ़ा दी और खुद प्रधानमंत्री बन गए

यंगून : म्यांमार के सेना प्रमुख मिन आंग हलिंग ने देश में आपातकाल की अवधि बढ़ा दी है और प्रधानमंत्री बन गए हैं.
अंतरराष्ट्रीय समाचार एजेंसी के अनुसार, म्यांमार में सैन्य तख्तापलट का नेतृत्व करने वाले सेना प्रमुख ने अगस्त 2023 तक देश में आपातकाल की स्थिति बढ़ा कर खुद को अंतरिम सरकार का प्रधानमंत्री नियुक्त किया है।
फरवरी में सैन्य तख्तापलट के बाद, अंतरिम सरकार को चलाने के लिए एक कार्यकारी परिषद की स्थापना की गई थी जिसमें अब कुछ संशोधन करके , सेना प्रमुख मिन आंग हलिंग खुद प्रधान मंत्री के रूप में पदभार संभाला है ।
राष्ट्र के नाम एक टेलीविज़न संबोधन में, म्यांमार के सेना प्रमुख ने प्रधान मंत्री बनने के अपने इरादे की घोषणा की,और जल्द ही स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने का वादा किया, लेकिन कोई तारीख नहीं बताई ।
सेना प्रमुख मिन आंग हलिंग ने अपने भाषण में पूर्व सत्ताधारी दल को आतंकवादी बताया और उस पर चुनावों में धांधली करने और एक दल की सरकार बनाने का आरोप लगाया.
यह याद रहे कि सेना प्रमुख मिन आंग हलिंग ने 29 फरवरी को लोकतांत्रिक सरकार को गिरा दिया था, जबकि सत्ताधारी आंग सान सूची की को हिरासत में लिया गया था और एक साल के भीतर चुनाव कराने का वादा किया था।
गौरतलब है कि सबसे पहले रंगून अस्पताल के डॉक्टरों ने देश में सैन्य तख्तापलट के खिलाफ आवाज उठाने वाले व्यक्ति थे जिसके बाद देश भर में प्रदर्शनों की एक श्रृंखला जारी हो गई । प्रदर्शनकारियों पर नकेल कसने के आदेश जारी होने के बाद से 2,000 से अधिक लोग मारे गए हैं और 5,000 से अधिक घायल हुए हैं, जबकि हजारों राजनीतिक कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है।