किसान आंदोलन का असर: पंजाब में बीजेपी नेताओं का घर से निकलना मुश्किल- बीजेपी नेता

जोशी ने ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ से बात करते हुए कहा कि वे पंजाब बीजेपी के नेताओं को चुनौती देते हैं कि वे बिना सुरक्षा के अपने नजदीकी गांवों में जाकर दिखाएं।अगर बीजेपी नेताओं में इतनी हिम्मत है तो जनता का सामना बिना सुरक्षा के करें सब पता चल जाये गा कि जनता कितनी नाराज़ है राज्य बीजेपी के बड़े नेताओं में शुमार जोशी कहते हैं कि अब वे पूरे राज्य का दौरा करेंगे और किसानों के हक़ में बात करेंगे।

नई दिल्ली (मिल्लत टाइम्स ) पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले राज्य बीजेपी के कुछ नेता किसान आंदोलन को लेकर मुश्किलात में घिर गए हैं । बीजेपी के वरिष्ठ नेता अनिल जोशी का कहना है कि अगर किसान आंदोलन का हल जल्दी नहीं निकला तो बीजेपी के नेता को अपने घरों से बाहर निकलना बहुत मुश्किल हो जय गा।गौरतलब है कि जोशी शिरोमणि अकाली दल-बीजेपी की सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं।

जोशी के इस डर के कई मायने हैं । इस साल फरवरी में जब पंजाब में नगर निगम के चुनाव हुए थे, उस समय भी बीजेपी के कई प्रत्याशियों को पंजाब की जनता के जबरदस्त विरोध का सामना करना पड़ा था। 2014 और 2019 में केंद्र में सरकार बनाने में कामयाब रही बीजेपी के नेता इस बात के ख़्वाब देखने लगे थे कि वे अपने साथी यानी अकाली दल के बिना ही राज्य में सरकार बना सकते हैं लेकिन किसान आंदोलन ने उनके अरमानों पर पानी फेर दिया। बीजेपी को किसान आंदोलन कि वजह से पूरे पंजाब में भारी नुक्सान उठाना पड़ रहा है बीजेपी के नेता जनता के बीच नहीं जा पा रहे हैं उन्हें जनता के विरोध का सामना करना पड़ रहा है

जोशी ने ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ से बात करते हुए कहा कि वे पंजाब बीजेपी के नेताओं को चुनौती देते हैं कि वे बिना सुरक्षा के अपने नजदीकी गांवों में जाकर दिखाएं।अगर बीजेपी नेताओं में इतनी हिम्मत है तो जनता का सामना बिना सुरक्षा के करें सब पता चल जाये गा कि जनता कितनी नाराज़ है राज्य बीजेपी के बड़े नेताओं में शुमार जोशी कहते हैं कि अब वे पूरे राज्य का दौरा करेंगे और किसानों के हक़ में बात करेंगे।

‘द इंडियन एक्सप्रेस’ के साथ बातचीत में जोशी कहते हैं कि अगर पार्टी चाहे तो वह उन्हें बाहर कर सकती है और अभी वह पार्टी में रहते हुए ही ये बात कह रहे हैं।

जोशी 2017 का चुनाव हार गए थे। किसान आंदोलन को लेकर उनकी इन बातों को कुछ बीजेपी नेता इस बार उनके फिर से टिकट हासिल करने के लिए दबाव बनाने का क़दम बताते हैं। लेकिन जोशी इस तरह की बातों को नकार देते हैं।

आप को मालूम हो कि पंजाब में आज के जो हालात हैं उन्हें मार्च में हुए एक वाक़ये से और बेहतर ढंग से समझा जा सकता है। इस वाक़ये में अबोहर सीट से बीजेपी विधायक अरुण नारंग पर मुक्तसर जिले में किसानों ने हमला कर दिया था। किसान इतने आक्रोशित थे कि उन्होंने अरुण नारंग के कपड़े तक फाड़ दिए थे। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर काफ़ी वायरल हुआ था।

loading...